ALL संपादकीय पुस्तक कहानी कविताएँ ग़ज़लें लघुकथा लेख पत्रांश साहित्य नंदनी बिरासत
खामोशियाँ भी जरूरी हैं (कविता)
January 28, 2019 • प्रगति गुप्ता

खामोशियाँ भी जरूरी हैं

पसरी हुई खामोशी

क्या कुछ नहीं कर गयी

तब कहीं चुपके से तुझे

छूकर आई हवा

मुझे यूँ सहरा गई

कुछ बतला गई

खामोशियाँ भी जरूरी हैं

बहुत कुछ महसूस करने को

कुछ थोड़ा-सा जीने को

जीने को, महसूस करने को......