ALL संपादकीय पुस्तक कहानी कविताएँ ग़ज़लें लघुकथा लेख पत्रांश साहित्य नंदनी बिरासत
न्यू इंडिया है ये
August 23, 2018 • Jay Chakrabarty

 एक हाथ में बाइक दूजे मे

मोबाइल है 

न्यू इंडिया है, ये इसका-

"लाइफ-स्टाइल' है.

 

नहीं "फेस-टू-फेस' कहीं

मिलता कोई अपना

फॉलो होता सिर्फ

फेसबुक पर हरेक सपना

    "मेल' और मैसेज' में सिमटे

सब रिश्ते-नाते-

आभासी-चेहरों पर

आभासी स्माइल' है

 

टीवी की आँखों में

बसने की लेकर आशा सीख रही पीढ़ी

संस्कारों की नूतन भाषा

“हेलो' “हाय' “टाटा "ओके वाली “मेमोरी' से-

हुई “डिलीट

प्रणाम-नमस्ते वाली "फाइल है

 

चढ़ा मीडिया के कंधों

बाजार शिकारी है

शयन-कक्ष से पूजाघर तक

इसकी यारी है

गाँव-शहर "मॉडर्न हुए

सब बदल गए चेहरे-

जो जितना लकदक

उतनी ऊंची "प्रोफाइल है।