ALL संपादकीय पुस्तक कहानी कविताएँ ग़ज़लें लघुकथा लेख पत्रांश साहित्य नंदनी बिरासत
कोरोना
April 6, 2020 • रीना गोयल • कविताएँ

रीना गोयल ( सरस्वती नगर), हरियाणा, माे. 9466741154
Reenagoyal94667@gmail.com
 
 
है हावी कोरोना जग पर, निपटेंगे हुशियारी से ।
जनहित के नियमों का पालन, करलें जिम्मेदारी से ।
 
रोग भयंकर अरु निदान के, कहीं लगे आसार नहीं ।
दूरी सबसे हुई जरूरी, दूजा कुछ उपचार नहीं ।
इस संकट से हमें उबारो, विनती है गिरधारी से ।।1।।
जनहित के नियमों का पालन .........।
 
भली-भांति हाथों को धोएं, मूहँ मास्क से ढकना हैं ।
बाहर से कोई आये तो, सेनिटाइज करना है।
खतरा टल जाए मत डरना, मनुज किसी दुश्वारी से ।।2।।
जनहित के नियमों का पालन  .........।
 
द्रवित हृदय है, ख़ौफ़ बढ़ा है, फिर नर क्या मगरूरी है ।
लॉकडाउन का पूर्ण रूप से, पालन हुआ जरूरी है।
अब घर में रह तनिक कटो तुम, दुनियां, दुनियादारी से ।।3।।
जनहित के नियमों का पालन .........।
 
श्री मोदी आग्रह का पालन, करलो इक्किस दिवस सभी ।
हर इक जरुरत की व्यवस्था है, पाँव बांध लो जरा अभी ।
धीर धरो संयम मत खोना, क्या हो मारामारी से ।।4।।
जनहित के नियमों का पालन  .........।