ALL संपादकीय पुस्तक कहानी कविताएँ ग़ज़लें लघुकथा लेख पत्रांश साहित्य नंदनी बिरासत
संवाद
August 25, 2020 • संजय भारद्वाज • कविताएँ
संजय भारद्वाज
9890122603
 
विवादों की चर्चा में 
युग जमते देखे,
आओ संवाद करें 
युगों को पल में पिघलते देखें।
 
मेरे तुम्हारे चुप रहने से  
बुढ़ाते रिश्ते देखे,
आओ संवाद करें 
रिश्तो में दौड़ते बच्चे देखें।
 
मित्रो, नोवेल कोरोनावायरस से  संघर्ष में *संवाद* महत्त्वपूर्ण अस्त्र सिद्ध हो सकता है। वर्तमान परिप्रेक्ष्य में इस अस्त्र के महत्व और शक्ति पर दो दिन पूर्व एक वीडियो प्रेषित किया था। इस वीडियो को आप सबने जो समर्थन दिया, उससे अभिभूत हूँ। सरलता से अग्रेषित करने करने हेतु इस संवाद का यूट्यूब लिंक दे रहा हूँ। कृपया इस अभियान से जुड़ें, अधिक से अधिक लोगों को इससे जोड़ें।